Grab the widget  Get Widgets

reward me free sg

tag

Showing posts with label timemanagement. Show all posts
Showing posts with label timemanagement. Show all posts

Tuesday, January 8, 2013

Blogging करें मगर Time Management करना न भूलें « Tech Prévue · तकनीक दृष्टा

Blogging करें मगर Time Management करना न भूलें « Tech Prévue · तकनीक दृष्टा

Time Management While Doing Blogging

Time Management in Blogging
ब्लॉगिंग करने वाले शुरुआती दौर में एक नशे एक जोश में रहते हैं जो कि बाद में एक लत बन जाता है। वो ब्लॉगिंग के बजाये अपने पेज पर इधर-उधर करते रहते हैं कि कहीं किसी पोस्ट पर कोई कमेंट तो नहीं आया। ब्लॉगर ने जबसे डैशबोर्ड पर आँकड़े दिखाने शुरु किये हैं तबसे बहुत से लोग अपने डैशबोर्ड पर यही आँकड़े देखते रहते हैं कितने कमेंट आये, कौन-सा पेज कितनी बार देखा गया, किस-किस देश से कितने लोग आये, आज दिन में कौन-सी पोस्ट कितनी बार पढ़ी गयी इत्यादि। इससे कोई उद्देश्य सिद्ध नहीं होता है क्योंकि जितने कमेंट आने हैं आयेंगे, जितनी बार पोस्ट पढ़ी जानी है पढ़ी जायेगी। आप जितना समय यह सब करने में लगाते हैं उतने समय में तो आप नयी पोस्टें लिखकर जमाकर सकते हैं। कहते भी हैं हर प्रकार की सफलता के लिए समय को प्रबंधित करना बहुत ही आवश्यक है। आप एक सामाजिक प्राणी हैं इसलिए आपकी ब्लॉग से हटकर भी एक दुनिया है और जिसमें बहुत सारी जिम्मेदारियाँ हैं, उन सभी को निभाने के आपको समय निकालना ही पड़ेगा। समय प्रबंधन बहुत ही ज़रूरी है क्योंकि सफलता कभी परियों की कहानी की तरह सरल नहीं होती है। यदि आप ब्लॉगिंग करते हैं तो आप सब कुछ छोड़कर तो नहीं कर सकते हैं। इसलिए आइए जाने की ब्लॉगिंग करते हुए अपने समय का प्रबंधन किस प्रकार किया जाये।

Blogging is an addiction for new blogger due to this reason most of the bloggers waste their valuable time in viewing stats and following posts to see, is there any new comments? Time management is very-very important to get success in to blogging and personal life as well. Success would never be a fairy tale for any of us thus you'll need to divide your time for family, office and blogging. In this post will learn how can we make our successful career in blogging. Following are the points you'll need to keep in mind while doing blogging and set you new year resolution for blogging.

  1. Set your blogging objectives
  2. Keep thinking very new about new posts
  3. While creating a post keep concentrating on writing and only writing
  4. Always keep buffers of drafts
  5. Regular recurrence with a niche style
  6. Schedule your upcoming posts and stay tension free
  7. Blog promotion with scheduled tweets and sharing on Facebook and Google+
  8. Quit habit of looking at blog stats all day
  9. Hire people when necessary
  10. Must learn to say 'NO'
  11. Enable comment moderation for spam
  12. Open your doors for guest blogging
  13. Stay active for sharing and promoting other bloggers

1. ध्येय निर्धारण - आपको ब्लॉग पर क्या करना है?
Set your blogging objectives

सबसे पहले सोचिए कि आप अपने ब्लॉग पर क्या करना चाहते हैं। अर्थात्‌ अपने ब्लॉग का सही विषय निर्धारित कीजिए। अपनी हर पोस्ट के लिए आवश्यक सामग्री जैसे संदर्भ लेख, फ़ोटो व लिंक जमा कीजिए। इन सभी को संयोजित कीजिए और कब क्या करना है इसकी लिस्ट हमेशा अपने पास रखिए। उन कामों से बचिए जो आपके ब्लॉग पोस्ट लिखते समय बाधा उत्पन्न करते हैं, जैसे चैट करना, फोन पे बात करना, इत्यादि।

यदि आप अपनी पोस्ट को सोशियल मीडिया के ज़रिए प्रोमोट करते हैं तो उस मीडिया पर ज़्यादा ध्यान केंद्रित कीजिए जहाँ से आपको पाठक ज़्यादा मिल सकते हैं। जैसे यदि आप फोटो ब्लॉग चलाते हैं तो आपको Pinterest से ज़्यादा पाठक और फॉलोअर मिल सकते हैं बजाय कि twitter से।

2. विचारशील रहना - जब समय मिले अगली पोस्ट को कैसे बनाना है उसके प्वाइंट नोट करते रहिए
Keep thinking very new about new posts

कभी भी आपको किसी पोस्ट बनाने के लिए 4-5 घंटों का समय नहीं लगेगा यदि आप काम के बीच मिलने वाले खाली समय में अपनी अगली पोस्ट कैसे बनानी है और उसको कैसे सजाना है इस पर पहले से सोचकर उसे नोट करके रख लेंगे। ऐसा करने पर यदि आपकी औसत टाइपिंग स्पीड ठीक है तो आप आधे घंटे में भी एक पोस्ट आसानी से तैयार कर लेंगे।

3. पोस्ट लिखें सारा ध्यान पोस्ट पर रखें - विषय की बात लिखें
While creating a post keep concentrating on writing and only writing

घर के सारे काम निपटा लीजिए। सभी सोशियल नेटवर्किंग साइटों की टैब बंद कर दीजिए। मेल चेक कर लीजिए जिनके जवाब देने हैं दे लीजिए उसके बाद ही पोस्ट लिखना शुरु कीजिए। जो भी लिखिए उसे अपने पाठक की मानसिकता को पूरा ध्यान रखते हुए लिखिए। आप जो भी पोस्ट लिखिए उसके बारे में उसका उद्देश्य बनाये रखिए पोस्ट में सार्थक बातें लिखकर अपने शब्दों को सशक्त बना सकते हैं और समय बचा सकते हैं।

4. ड्राफ़्ट बफ़र बढ़ायें - कई पोस्टें प्रकाशन के लिए पहले से ही लिख लीजिए
Always keep buffers of drafts

यदि आप ख़ाली समय में पोस्ट लिख-लिखकर अपनी ड्राफ़्ट में अप्रकाशित पोस्टों की संख्या को बढ़ाते रहेंगे तो आप समय से पोस्ट प्रकाशित करने में अधिक सक्षम हो सकेंगे। अपनी ड्राफ़्ट की अगली प्रकाशित की जाने वाली पोस्ट को समय-समय पर सजाते रहिए जैसे पैराग्राफ़ बनाना, चित्र जोड़ना, लिंक देना इत्यादि। इससे आपकी पोस्टें नियमित रूप से समय पर तैयार होती रहेंगी।

5. पोस्टों का तारतम्य बनाये रखिए - सभी का पूरा ध्यान रखिए
Regular recurrence with a niche style

हर किसी के लिए ये बात अलग है। यदि आप अपनी कविताएँ, लेख, कहानी इत्यादि प्रकाशित करते हैं तो आपके पोस्ट लिखने की सरगम सबसे अलग हो सकती हैं लेकिन यदि आप पत्रिका जैसी ब्लॉग/साइट रखते हैं तो आपको अपने प्रकाशन के लिए सरगम बनानी होगी ताकि आप सभी पोस्टें आवश्यकतानुसार बना सकें। 

नये ब्लॉगर को दिन में 30 मिनट से लेकर 1 घंटे से बीच अधिक से अधिक काम पूरा करने लेने की आदत डाल लेनी चाहिए। नये ब्लॉगरों को अपने लिखने के अनूठे ढंग पर ज़्यादा से ज़्यादा समय देना चाहिए जिसके लिए आपका कम्प्यूटर के सामने बैठना बिल्कुल ज़रूरी नहीं हैं। नये अंदाज़ पाठकों को आपका अपना बनाने में बहुत सहायक हो सकते हैं।

6. पोस्ट को शेड्यूल करने की आदत डालिए
Schedule your upcoming posts and stay tension free

यदि आप पोस्ट लिखकर पहले से ही अपने ड्राफ़्ट में पोस्टों की संख्या को बढ़ाते रहेंगे तो आप आसानी से आवश्यकतानुसार कभी-भी मनचाही पोस्ट को प्रकाशन के लिए शेड्यूल कर पायेंगे। पोस्ट शेड्यूल करने से आप बहुत फ्री महसूस करेंगे। आपके पास जितने अधिक ड्राफ़्ट पोस्ट होंगी आप उतनी ही शीघ्रता के साथ पोस्ट प्रकाशित भी कर पायेंगे। शीघ्रता के साथ पोस्ट प्रकाशित करने का मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि आप अपने पोस्टों की गुणवत्ता गिरा दें।

यदि आप पूर्व निर्धारित कर लेंगे कि कौन सी पोस्टें आपको कब प्रकाशित करनी हैं तो आपको अपनी पोस्ट लिखने में बहुत ही अधिक सहायता मिल जायेगी।

7. ब्लॉग प्रोमोशन के लिए सही समय चुनें
Blog promotion with scheduled tweets and sharing on Facebook and Google+

अपनी ब्लॉग पोस्ट को प्रोमोट करना आपका सबसे ज़्यादा समय ख़राब करने वाला काम हो सकता है। इससे बचने के लिए आप अपनी पोस्टों को Networked Blogs, Buffer App, HootSuite, HubSpot, Bloglovin के ज़रिए सोशियल मीडिया साइट पर प्रकाशित करवा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहें कि आपका सोशियल मीडिया के लिए दीवानापन अत्यधिक नहीं बढ़ना चाहिए।

सबसे पहले आपको अपने ब्लॉग को सोशियल मीडिया जैसे Twitter, Facebook, Google+ से जोड़ना होगा और उसके पश्चात्‌ अपने पाठकों के लिए गुणवत्ता से भरे लेख लिखने होंगे ताकि वो आपकी पोस्टों को प्रोमोट करें। ऐसी पोस्टें लिखिए जो आपके पाठकों को आपके ब्लॉग पर आने के लिए बाध्य कर दें अर्थात्‌ आपकी पोस्टों से उनको लाभ मिले।

इसके अतिरिक्त उन पाठकों पर ध्यान दीजिए जो आपके ब्लॉग पर कमेंट लिखते हैं। समय ही मिलते ही उनकी पोस्टों पर भी कमेंट दीजिए। उनके सोशियल मीडिया पेज और ग्रुप से जुड़िए ताकि उनका सहयोग आपको मिले। साथ ही जब आप किसी की सहायता करें तो देखें कि कहीं वो आपको प्रयोग तो नहीं कर रहा है आप अगर प्रोफ़ेशनल ब्लॉगर हैं तो जीवन की तरह ही अपने पर्सनल और बिजनेस सम्बंधों को अलग-अलग रखने की कोशिश करें।

8. बार-बार डैशबोर्ड पर आँकड़े मत देखिए
Quit habit of looking at blog stats all day

अपने ब्लॉग व पाठक सम्बंधी सभी आँकडों को जानना आपका हक़ है और इसका बहुत ही महत्व है लेकिन दिन में बार-बार डैशबोर्ड पर आँकड़े देखना समय व्यर्थ करने से ज़्यादा कुछ नहीं है। दिन में एक समय बना लीजिए जब आप पोस्ट में आये कमेंट का आप जवाब देंगे उसी समय आप अपने ब्लॉग आँकड़ों को भी देख लीजिए।

9. एक कम्पनी की तरह बर्ताव कीजिए - ज़रूरत होने पर हर काम के लिए अलग व्यक्ति रखिए
Hire people when necessary

यदि आप बहुत व्यस्त रहते हैं और ब्लॉगिंग आपका शौक है तो समय के अभाव में ब्लॉग डिज़ाइन, तकनीकि समस्याओं और पोस्ट सम्पादन के लिए लोगों को नियुक्त कीजिए। आप अपना ध्यान सिर्फ़ पोस्ट बनाने में लगाइए। इससे आपको अपने बारे में सोचने के लिए और आगे की पोस्ट बनाने के लिए अधिक समय मिलेगा।

10. 'न' कहने की आदत डालिए
Must learn to say 'NO'

आपके आस-पास हमेशा ऐसे व्यक्ति मौजूद होंगे जो आपके संसाधन, स्रोत, समय और शक्ति का प्रयोग करके अपने प्रोजेक्ट/ब्लॉग/साइट को प्रोमोट करने की कोशिश करेंगे। ऐसे लोग आपसे चिकनी-चुपड़ी बातें करके अपना काम निकलवाकर आपका बहु-मूल्य समय नष्ट करेंगे, जिससे आपको जीवन के अन्य महत्वपूर्ण कामों को निपटाने में बाधा उत्पन्न होगी। पहले-पहल मुझे लोगों की नि:शुल्क (बिना पैसे के) सहायता करने में बहुत आनंद आता था लगता था कि मैं जिसकी मदद करूँगा वह मुझे धन्यवाद देगा लेकिन ऐसा नहीं है, सभी ने सहायता ली, फ्री में ब्लॉग डिज़ाइन करवाया और फिर पलट कर बिना काम के कभी याद नहीं किया।

फ्री में अपना ज्ञान दीजिए मगर अपना समय नहीं देना चाहिए। मैं ऐसा नहीं कह रहा कि किसी की मदद मत कीजिए मगर लोगों को पहचानकर अपने सम्बंधों के अनुसार मदद कीजिए क्योंकि आप फ्री में इंटरनेट नहीं चलाते, फ्री में आपको बिजली नहीं मिलती और आपको कोई फ्री में कम्पयूटर/लैपटॉप नहीं दे गया है और सबसे महत्वपूर्ण आपने ज्ञान फीस चुकाकर और समय लगाकर अर्जित किया है। 

'न' का मतलब 'कभी नहीं' नहीं है, मेरे भी कई ब्लॉगर मित्र ऐसे हैं जिनके ब्लॉग/साइट मैंने नि:स्वार्थ बनाये हैं और उन्होंने भी समय पर मेरी खूब मदद की है।

11. टिप्पणियों में असभ्य भाषा के लिए माडरेशन लगाइए
Enable comment moderation for spam

आजकल स्पैम कमेंट की भरमार है यदि आप ब्लॉग पर कमेंट माडरेशन लगायेंगे तो आपको ब्लॉग जाकर ऐसे घटिया कमेंट पर नज़र रखने की ज़रूरत नहीं होगी जो कि आपके ब्लॉग को दूषित करते हैं। साथ ही माडरेशन का आपको एक लाभ और भी मिलेगा कि कुछ कमेंट करने वाले अपने ब्लॉग का प्रोमोशन करने के लिए ब्लॉग का लिंक डालते हैं तो उनसे भी नजात मिलेगी। इसके अलावा कुछ लोग कमेंट में बेसिर-पैर के सवाल पूछते हैं और पोस्ट के महत्व को खत्म करने का प्रयास करते हैं उनके कमेंट को प्रकाशित न करके आप उन्हें निराश कर सकते हैं। साथ ही हमें पोस्ट से असम्बंधित किसी भी चर्चा को कमेंट में नहीं आने देना चाहिए। इससे पोस्ट का अपना महत्व कम होता है। इससे बचने के लिए पाठकों को सम्पर्क फ़ार्म और ईमेल का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित कीजिए।

12. अतिथि ब्लॉगरों का सम्मान कीजिए
Open your doors for guest blogging

यह ध्यान में रखिए कि इस वेब की दुनिया में आपके ब्लॉग के लिए सामग्री ही सामग्री है कोई एक व्यक्ति इतना सबकुछ ब्लॉग नहीं कर सकता है। इसलिए यदि कोई आपके लिए पोस्ट लिखना चाहता है तो उसके आवेदन को स्वीकार करिए और ऐसे आवेदनों का आग्रह कीजिए। इससे आपको उसके साथ पाठक साझा करने का मौक़ा मिलेगा क्योंकि हर किसी के अपने पाठक हो सकते हैं। ऐसी बहुत सम्भावना है कि अतिथि ब्लॉगर के पास ऐसे पाठक हों जिनको आपके ब्लॉग के बारे में बिल्कुल ही न मालूम हो सो अतिथि ब्लॉगरों के लिए अपने दरवाज़े हमेशा खुले रखिए।

13. उदार बनिए - अपने पाठकों के आग्रह सुनिए
Stay active for sharing and promoting other bloggers

यह बात सुनने में अब तक की गयी बातों के अनुसार उल्टी लग सकती है लेकिन आपको अपने पाठकों की पोस्टों को प्रोमोट करना चाहिए ख़ासकर उनकी जो आपकी पोस्टें प्रोमोट करें। 

ब्लॉगिंग की दुनिया बड़ी मनमोहक और रोचक है जिसके प्रमुख तत्व 'भाग लेना', 'चर्चा करना', 'प्रोमोट करना', 'सिखाना', 'सीखना' और 'शेअर करना' हैं। यदि आप सारा समय अपने ब्लॉग पर बिताते हैं तो आप उन ब्लॉगरों को छोड़ रहे हैं जो एक दूसरे की सहायता करके आगे निकल रहे हैं। यदि आप दूसरों के कंटेंट को प्रोमोट करने वाले के रूप में जाने जायेंगे तो लोग आपकी तरफ़ आकर्षित होंगे। इससे आपका ब्लॉग और कम्यूनिटी में पाठकों की संख्या बढ़ती जायेगी।


                 
Keywords: time management, blogging, blogging time management, blogging best practices, blogging secrets






Enhanced by Zemanta
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

p no

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

a this